गर्मियों की छुट्टी और मेरा चाँद

हर किसी को अपनी वह एकतरफा मोहब्बत (कुछ ने दो तरफ भी कर ली होगी ) याद होगी। जब आप गर्मी की छुट्टियों में मामा/नाना/फूफा/मौसी/मौसा के यहाँ जाया करते थे या फिर आपके मोहल्ले की रौनक कुछ समय के लिए बढ़ जाया करती थी। आपके पड़ोस में शर्मा/वर्मा/दुबे जी के यहाँ वह फूल हर वर्ष [...]